लकड़ी तस्करी करने के आरोप में दो वन आरक्षी को किया निलंबित

0
114

तराई पूर्वी वन प्रभाग में तैनात दो वन आरक्षियों को शीशम की लकड़ी की तस्करी के आरोप प्राथमिक जांच में सिद्ध होने के बाद प्रभागीय वन अधिकारी (डीएफओ) ने निलंबित कर दिया है। दोनों को अलग-अलग रेंज में अटैच कर चार्जशीट की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

शुरुआती जांच में सही पाए आरोप

तराई पूर्वी वन प्रभाग की खटीमा रेंज में वन आरक्षी बाबूराम वर्मा की तैनाती थी। वर्मा पर आरोप है कि उन्होंने चकरपुर पौधशाला कैंप से शीशम के 6 फीट लंबे एवं चार फीट गोलाई के सात गिल्टे परिवहन विभाग के एक कर्मचारी को दे दिए। शुरुआती जांच में आरोप सही पाए जाने के बाद उन्हें निलंबित कर किशनपुर रेंज कार्यालय से अटैच कर दिया गया है।

वहीं, किलपुरा रेंज में तैनात वन आरक्षी सुनील कुमार द्वारा दो सहयोगी वाचरों की मदद से शीशम के वृक्ष कटवाकर चकरपुर निवासी चंद्र को बेच दिया गया। वन क्षेत्राधिकारी किलपुरा ने इन पेड़ों के अवैध कटाने की पुष्टि भी अपनी रिपोर्ट में की है। सुनील को डौली वन रेंज कार्यालय में अटैच कर दिया है।

डीएफओ नीतीशमणि त्रिपाठी ने बताया कि जांच में दोनों पर लगे आरोप सही पाए जाने के बाद निलंबित कर दिया गया है। मामले में आगे विस्तृत जांच कर दूसरे आरोपियों की भी पहचान की जाएगी।

You May Like This

LEAVE A REPLY