फेसबुक पर लिखा, ‘मैं तकरीबन किडनैप हो चुकी थी’

0
114
Photo Credit-twitter
Read This Also

चंडीगढ़:-हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला द्वारा आईएएस अफसर की बेटी से छेड़छाड़ को लेकर बीजेपी विपक्ष के निशाने पर है। कांग्रेस और आईएनएलडी ने इस मामले को लेकर बीजेपी पर हमला बोला है, वहीं पीड़ित युवती भी विकास बराला के खिलाफ खुलकर सामने आ गई है।

पीड़ित युवती ने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए अपनी आपबीती बताई। युवती ने मीडिया से बातचीत में समय पर ऐक्शन लेने के लिए चंडीगढ़ पुलिस को भी शुक्रिया कहा है।

हालांकि साथ ही कहा कि अगर वह किसी आम आदमी की बेटी होती, तो शायद ही पुलिस इतनी मुस्तैदी दिखाती। शनिवार सुबह पुलिस ने पीड़ित लड़की का बयान भी लिया।

युवती ने पुलिस को बताया कि आरोपी सेक्टर-7 से ही उसका पीछा कर रहे थे और बीच रास्ते में कई बार अपनी गाड़ी को उसके आगे करके उसकी खिड़की पर भी हाथ मारा।

राज्य के बीजेपी अध्यक्ष पर कार्रवाई की मांग के बारे में जब सीएम मनोहर लाल खट्टर से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि बेटे के अपराध के लिए हरियाणा बीजेपी प्रमुख को सजा नहीं दी जा सकती।

फेसबुक पर लिखा, 'मैं तकरीबन किडनैप हो चुकी थी'

इस मामले को लेकर पीड़ित युवती ने फेसबुक पर पोस्ट डाली और घटना के बारे में विस्तार से बताया। यह पोस्ट कुछ ही देर में वायरल हो गई। युवती ने लिखा है कि 'मैं तकरीबन किडनैप हो चुकी थी। मैं रात करीब सवा 12 बजे कार से सेक्टर-8 मार्केट से अपने घर जा रही थी।

जब मैं रोड क्रॉस करने के बाद सेक्टर-7 के पेट्रोल पंप के पास पहुंची, उस समय मैं फोन पर अपने फ्रेंड से बात भी कर रही थी। वहां एक मिनट के बाद मुझे अहसास हुआ कि मेरी कार का दूसरी कार पीछा कर रही है। यह सफेद रंग की एसयूवी थी और मैंने नोटिस किया कि यह कार मेरी कार के साथ-साथ मुझे चेज कर रही थी।'

युवती ने आगे लिखा, 'यह कहना ठीक होगा कि संकट की घड़ी में कॉल करने पर एक मिनट में पुलिस ने मुस्तैदी दिखाई और मुझे संकट से बाहर निकाला। इस हादसे से सिस्टम पर मेरा दोबारा विश्वास कायम हुआ है।

थैंक्स चंडीगढ़ पुलिस।' छेड़छाड़ से पीड़ित लड़की के आईएएस पिता ने भी फेसबुक पर जहां पूरे घटनाक्रम की जानकारी साझा की, वहीं चंडीगढ़ पुलिस की भी तारीफ की। पीड़ित युवती ने महिलाओं को भी अपनी सुरक्षा को लेकर नसीहत दी।

युवती ने इसके बाद मीडिया से बातचीत में चंडीगढ़ पुलिस की तारीफ करते हुए कहा, 'पुलिस ने मेरी पूरी बात सुनी और मदद को भरोसा दिया। इसके बाद पुलिस आई और उन्होंने आरोपियों को अरेस्ट कर लिया।मैं चंडीगढ़ पुलिस की शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने समय पर कार्रवाई करके मुझे बचा लिया।'

कांग्रेस और चौटाला के निशाने पर बीजेपी

राज्य में आईएनएलडी के नेता अभय चौटाला ने कहा कि जो लोग बेटी बचाने की बात करते हैं, उनके बेटे की इस हरकत ने हरियाणा को शर्मसार कर दिया है। इन लोगों के संस्कारों में क्या है, यह सबके सामने आ गया है।

नैतिकता के आधार पर बराला को न सिर्फ इस्तीफा दें, बल्कि राजनीति से सन्यास भी लें। वहीं कांग्रेस ने भी राज्य की बीजेपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस घटना से सरकार के बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ कैंपेन को धक्का लगा है।

पुलिस ने बदलीं धाराएं, उठे सवाल

इस मामले में पुलिस के तेजी से धाराएं बदलने पर भी सवाल उठ रहे हैं। पुलिस ने शाम होते-होते अपनी तफ्तीश के आधार पर आरोपियों पर नई धाराएं जोड़ दीं। वहीं हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि हर भारतीय की तरह वह भी कानून का सम्मान करते हैं।

उन्हें इस बात का विश्वास है कि कानून द्वारा निष्पक्ष तरीके से पूरे मामले की जांच की जाएगी। डीएसपी ईस्ट सतीश कुमार ने की इस मामले में बताया कि आरोपी विकास बराला और आशीष के खिलाफ नई धाराएं लगाई गई हैं। पीड़िता के बयान पर दोनों के खिलाफ धारा 341 जोड़ी गई है।

पीड़िता ने अपने 164 के बयान में स्पष्ठ तौर पर किडनैपिंग की बात नही की है, इसलिए धारा 365 और 511 लगाई है। फिलहाल 365 और 511 धारा नहीं लगाई जा रही हैं और इसके लिए कानूनी राय ली जाएगी। उल्लेखनीय है पहले 354 डी और मोटर वीकल ऐक्ट-185 लगाई थी।

एलएलबी का स्टूडेंट है विकास बराला

डीएसपी ईस्ट सतीश कुमार के मुताबिक, घटना की सूचना मिलते ही पीसीआर हरकत में आ गई थी और आरोपियों को हाउसिंग बोर्ड के लाइट पॉइंट के पास घेर कर पकड़ लिया। दोनों के खिलाफ धारा 354 डी और 185 के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।

दोनों आरोपी शराब के नशे में धुत पाए गए। आरोपियों का मेडिकल करवाया गया और थाने लाया गया। इस दौरान पीड़िता के बयान भी लिए गए। विकास बराला कुरुक्षेत्र में एलएलबी का स्टूडेंट है और उसका साथी एलएलबी पास कर चुका है।

छानबीन में जुटी पुलिस के मुताबिक, विकास और आशीष ने सेक्टर-9 में शराब पी थी और सेक्टर-7 के पेट्रोल पंप के पास कार चला रही एक लड़की का पीछा किया।

गाड़ी से मिले पं. दीनदयाल उपाध्याय के दस्तावेज

बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे को गिरफ्तार करने के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने उस सफारी गाड़ी को भी अपने कब्जे में ले लिया, जिसमें वह दोनों आरोपी सवार थे। पुलिस जांच में पता चला है कि बरामद की गई गाड़ी टोहाना निवासी जयदीप के नाम पर पंजीकृत है।

जयदीप सुभाष बराला के रिश्तेदार हैं। बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला को चंडीगढ़ पुलिस ने जिस गाड़ी से गिरफ्तार किया है उस गाड़ी में न केवल हरियाणा बीजेपी से संबंधित प्रिंट सामग्री पड़ी हुई थी बल्कि गाड़ी की पिछली सीट पर दीनदयाल उपाध्याय से संबंधित टोपी व अन्य सामग्री भी पड़ी हुई थी।

माना जा रहा है कि यह गाड़ी अमित शाह के हरियाणा प्रवास के दौरान में भी गई थी।

बराला पर इस्तीफा देने का दबाव

रोहतक से मिशन 2019 का गुरुमंत्र लेकर लौटे हरियाणा बीजेपी को अपने प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे से जुड़े छेड़छाड़ प्रकरण ने बड़ा झटका दे दिया है।

इस मामले में पीड़िता हरियाणा के एक आईएएस अफसर की बेटी है, इसलिए ब्यूरोक्रेसी में भी भीतर ही भीतर इस घटना को लेकर बेहद नाराजगी है। यह मामला सियासी तौर पर भी गर्म हो रहा है।

पहले से ही विपक्षी दलों के निशाने पर खड़ी सत्तारूढ़ बीजेपी पर प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला से इस्तीफा दिलवाए जाने का दबाव बढ़ता जा रहा है।

बराला बीजेपी के विधायक भी हैं और यह मामला पार्टी हाईकमान के नोटिस पर भी आ चुका है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल एस मामले पर बेहद नपी-तुली टिप्पणी के साथ कहा कि परिस्थितियों पर नजर रखे हुए हैं।

You May Like This

LEAVE A REPLY