भाई की मौत के बाद बहन ने नहर में कूदकर दी जान

0
135

हरिद्वार में गाजियाबाद निवासी एक युवती ने अपने भाई की मौत के बाद देर रात ढाई बजे परिजनों के सामने ही हरिद्वार के जटवाड़ा पुल से गंगनहर में छलांग लगा दी। नहर में युवती का अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। पुलिस युवती की तलाश में जुटी है। पुलिस के अनुसार युवती के बचने की उम्मीद कम है। बताया जा रहा है कि उसके भाई का हरिद्वार के एक अस्पताल में इलाज चल रहा था, जहां उसकी बुधवार रात मौत हो गई थी। लेकिन भाई का शव ले जाते वक्त उनके साथ जो सलूख हुआ उससे युवती आहत हो गयी और उसने नहर में छलांग लगा दी।

देर रात इलाज के दौरान अस्पताल में हो गई मौत

प्रेमनगर गाजियाबाद निवासी फारुख के बेटे गंभीर रूप से बीमार था। जानकारी के अनुसार उसके इलाज पर लाखों रुपये खर्च होने से परिवार पर काफी कर्जा भी हो गया था। बुधवार देर रात इलाज के दौरान उसकी अस्पताल में मौत हो गई। इसके बाद परिजन शव को एंबुलेंस में लेकर गाजियाबाद के लिए निकल गए। आरोप है कि एंबुलेंस चालक ने बीच रास्ते में गाजियाबाद जाने से इनकार कर दिया और शव को पुल जटवाड़ा पर उतरवा दिया। परिजनों ने एंबुलेंस चालक से अनुरोध किया पर वह नहीं माना। इसी बीच परिजनों ने दूसरी एंबुलेंस को बुलाया।

परिजन पुल पर एंबुलेंस का इंतजार कर ही रहे थे कि भाई की मौत से दुखी और सामने उसका शव देखकर फारुख की बेटी आयशा ने देर रात करीब ढाई बजे पुल जटवाड़ा से गंगनहर में छलांग लगा दी। इससे परिजनों के होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी।

ज्वालापुर कोतवाली से कार्यवाहक कोतवाल संजीव थपलियाल टीम के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि रात होने के कारण गंगनहर में सर्च ऑपरेशन नहीं चलाया जा सका। बताया कि बाद में परिजन दूसरी एंबुलेंस से शव लेकर गाजियाबाद चले गए। युवती की नहर में तलाश की जा रही है। अभी कुछ पता नहीं चल पाया है।

You May Like This

LEAVE A REPLY