पुलिस ने 6 लाशों को पुल से नीचे फेंक दिया वीडियो हुआ वायरल

0
157
image credit-Google
Read This Also

पटना। बाढ़ के चलते देशभर के कई राज्य इसकी तबाही की चपेट में आ गए हैं, उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, ओडिशा सबसे ज्यादा बाढ़ प्रभावित राज्य हैं, जिसमें कई लोगों की जान जा चुकी है।

लेकिन इस बीच बाढ़ की तबाही का एक खौफनाक वीडियो सामने आया है जिसमें मीरगंज पुल से लाशों को फेंका जा रहा है। इस वीडियो के सामने आने के बाद जिले के डीएम हिमांशु शर्मा ने वीडियो की जांच के आदेश दे दिए हैं।

इससे पहले शवों की पहचान नहीं होने की बात आई थी सामने

बिहार के मीरगंज का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, इस वीडियो को बड़ी संख्या में लोग साझा कर रहे हैं। वीडियो में देखा जा सकता है कि मीरगंज पुलिस ने छह लाशों को पुल से नीचे फेंक दिया।

इससे पहले यह खबर सामने आई थी कि लाशों की पहचान नहीं हो पा रही है लिहाजा उसे मिट्टी में दबाने का फैसला लिया गया था। लेकिन जब सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हुआ तो मामले की डीएम ने जांच के आदेश दे दिए।

119 लोगों की जा चुकी है जान

बिहार में बाढ़ के चलते अभी भी हालात काफी खराब हैं, यहां तकरीबन 96 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं, जबकि 119 लोगों की अभी तक बाढ़ की वजह से मौत हो चुकी है। सिर्फ अररिया में 20 लोगों की मौत हो गई है।

पुलिस के अनुसार बाढ़ से काफी जानमाल की हानि हुई है, तकरीबन 15 शव बहकर आए हैं, जिसमें से सिर्फ 13 की ही पहचान हो सकी है। पुलिस का कहना है कि इसमें से 5 लाशें नेपाल से बहकर आई है, जिसके नेपाल पुलिस के हवाले कर दिया गया है।

बिहार में कई जिलों में लोगों की जान गई

बाढ़ से प्रभावित जगहों पर राहत और बचाव के कार्य के लिए एनडीआरएफ की कुल 113 टीमें तैनात की गई हैं। बाढ़ के चलते सबसे ज्यादा तबाही बिहार में हुई है, यहां मरने वालों की संख्या सबसे अधिक है।

बिहार में सबसे अधिक मौत

अररिया में 20, पूर्वी चंपारण में 14, पश्चिम चंपारण में 13, मधेपुरा में 12, सीतामढ़ी में 11, किसानगंज में 8, मधुबनी में 5, दरभंगा में 4, सहरसा में 3, सिहोर में 2, सुपूल में 1 की मौत हो चुकी है। बिहार के आपदा प्रबंधन के अनुसार अबतक कुल 3.59 लाख लोगों सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा चुका है। जबकि 2.13 लाख लोगों को अलग अलग 504 राहत कैंप में भेजा जा चुका है।

उत्तर प्रदेश के 15 जिले बाढ़ की चपेट में

उत्तर प्रदेश में लगातार बारिश के चलते कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। महाराजगंज के 80 गांव बाढ़ की मार झेल रहे हैं और जलमग्न हो गए हैं। प्रदेश के 15 जिले बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं। बाढ़ के चलते प्रदेश में अबतक कुल 36 लोगों की मौत हो चुकी है। जो शहर बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं वह गोंडा, बहराइच, श्रावस्ती, सखीमपुर खीरी, बलरामपुर हैं।

यूपी में 36 लोगों की जान गई

यूपी में अभी तक कुल 36 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि एनडीआरएप की टीम ने अभी तक 2500 लोगों को बचाया है। साथ ही बाढ़ पीढ़ितों की लगातार मदद की जा रही है और उन्हें खाने के पैकेट बांटे जा रहे हैं। बाढ़ के बदतर हालात ना सिर्फ उत्तर प्रदेश बल्कि देश के कई राज्यों में भी हैं। बाढ़ की चपेट में आने से लगातार लोगों की मौत हो रही है।

असम में 49 लोगों की जान गई

असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 49 पहुंच गई है, ऐसे में अगर इस साल असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या पर नजर डालें तो यह आंकड़ा 119 तक पहुंच चुका है। देश के 9 राज्य बाढ़ की चपेट में हैं, जहां एनडीआरएप की टीम लगातार राहत और बचाव का काम कर रही है। जो राज्य बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं वह बिहार, असम, यूपी, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, गुजरात, त्रिपुरा, ओडिशा हैं।

You May Like This

LEAVE A REPLY