अब देहरादून में बनेगा जैविक गन्ने से तैयार गुड

0
66

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने खैरी रोड स्थित जैविक गुड भट्टी के उद्घाटन अवसर पर कहा किसान जैविक गन्ना उगाएं। जैविक गन्ने से बनने वाला गुड़ लाभकारी होता है। प्रदेश सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देगी। जैविक विधि से तैयार की गई फसल का दाम भी अलग होगा।

जैविक गन्ने का मूल्य अलग से निर्धारित किया जायेगा

जैविक गन्ने का मूल्य अलग से निर्धारित किया जायेगा। आईआईपी के वैज्ञानिको द्वारा बनाई गयी इस गुड़ भट्टी की विशेषता है कि इसमें एक ओर तो जैविक गुड़ एवं खांडसारी बनेगी। वहीं, हवा और जल में होने वाले प्रदूषण से भी मुक्ति मिलेगी। उन्होंने बताया कि आईआईपी कई जगहों पर 40 ऐसे कुटीर उद्योग लगाने में सहयोग करेगा।

उन्होंने बताया कि चीड़ के पत्तों से तारपीन का तेल बनाने के लिए सरकार ने आईआईपी के साथ एमओयू साइन किया है। आईआईपी के निदेशक डा. अंजन रे ने संस्थान द्वारा जनहित में किये जा रहे वैज्ञानिक प्रयासों के बारे में जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन अमर कुमार जैन ने किया।

इस अवसर पर गन्ना विकास सहकारी समिति के अध्यक्ष ईश्वर पाल, एडवोकेट रामेश्वर लोधी, करन बोरा, प्रधान परमिन्दर सिंह, दरपान सिंह बोरा, रोहित क्षेत्री, पंकज शर्मा, राजेन्द्र तडियाल, प्रवीण कन्नौजिया, डबल सिंह भंडारी, दिनेश सजवाण, सरवन सिंह प्रधान, पूर्व ब्लाक प्रमुख नगीना रानी, प्रधान नरेन्द्र सिंह नेगी, राकेश लोधी, चैधरी गौरव सिंह, विक्रम नेगी, रणजीत सिंह बाबी, रणजोध सिंह, लच्छीराम लोधी, पवन लोधी, मनोज काम्बोज, सतेन्द्र चैधरी, सुनील बर्मन समेत क्षेत्र के किसान मौजूद थे।

You May Like This

LEAVE A REPLY