ढाई घंटे में पूरी रामलीला का मंचन, दर्शकों ने ताली बजाकर किया कलाकारों का अभिनंदन

0
583
Read This Also

अल्मोड़ा। सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में दस दिनों तक चलने वाली रामलीला का मंचन मात्र ढाई घंटे में करने का सफल प्रयास उदय शंकर नृत्य एवं संगीत अकादमी में किया गया। जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया की प्रेरणा एवं सहयोग से इस रामलीला का मंचन श्री नंदा देवी रामलीला के कलाकारों ने मात्र 2.45 मिनट में कर दिखाया। जिसमें रामलीला के सभी प्रसंगों को शामिल किया गया।
   खास बात यह है कि यह रामलीला उस तर्जपर की गई जो कभी बद्रेश्वर में हुआ करती थी। इसमें शास्त्रीय राग रागिनियों पर आधारित रामलीला के गीतों को ही रखा गया था। रामलीला के मंचन में लगभग 65 पात्र होते है लेकिन मात्र 22 कलाकारों ने विभिन्न पात्रों का अभिनय कर इसका बेहतरीन प्रदर्शन किया। पर्दे के पीछे के कलाकारों ने इस रामलीला को बेहतरीन सेट और लाईट के माध्यम से और आकर्षक बना दिया। रामलीला को देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग उत्साह के साथ अकादमी में पहुंचे और पूरी रामलीला का आनंद लिया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधान सभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, विशिष्ठ अतिथि पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी मौजूद रहे। उन्होंने रामलीला के इस नये कदम की सराहना करते हुए कहा कि इससे यहां कि रामलीला को और अधिक ख्याति प्राप्त होगी। जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि इस नए अंदाज से यहां की रामलीला जो रोचक है उसे राष्ट्रीय व अर्न्तराष्ट्रीय स्तर तक ले जाने का पूरा प्रसास किया जायेगा। रंगकर्मी अनिल सनवाल के निर्देशन में की गई इस रामलीला के मंचन में हर्ष जोशी ने राम, राजू रौतेला लक्ष्मण, पिहु जोशी सीता, राजेश तिवारी विभिषण, गणेश मेर सुमंत, नवीन बिष्ट दशरथ, दीवान बिष्ट सुग्रीव, नीरज भरत, हरि विनोद साह रावण, अर्जुन बिष्ट त्रिजटा, शशि मोहन पांडे विश्वामित्र, जगदीश भंडारी परशुराम, अमरनाथ सिंह नेगी हनुमान, परितोष जोशी जनक, संजय साह ताडका, लोकेश तिवारी बाणासुर, दिव्यांशु जोशी सूर्पनखा, पुष्पा रौतेला कैकई, ललित पांडे मारिच, कुलदीप मेर दूषण, भूमि बिष्ट सीता सहेली, खुशी वर्मा सीता सहेली, सौम्या सनवाल गौरी माता, मनीषा जोशी ने सीता सहेली की भूमिका निभाई। प्रत्येक कलाकार ने 3 से 4 पात्रों का अभिनय किया। संगीत मंडली में संजय उप्रेती हारमोनियम, विजय सनवाल तबला एवं शेखर जोशी मंजीरा व अन्य बा़द्ययंत्र के साथ शामिल रहे। सेट डिजाइन महेद्र सिंह बिष्ट, अतुल वर्मा, जगदीश बिष्ट, राजकुमार बिष्ट, संदीप साह ने किया वहीं लाईट संयोजन यूशुफ तिवारी का रहा। इस रामलीला की स्क्रीप्ट लेखन अनिल सनवाल एवं सुमन सनवाल ने किया।

You May Like This

LEAVE A REPLY