अगली पीढ़ी के लिए हों विकास कार्य: वरुण गांधी

0
9

सांसद वरुण गाधी ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सड़कें ठीक नहीं बन रही हैं। एक बारिश में ही सड़कों का पता नहीं चल रहा है। काम अक्षम तरीके से हुआ है। अगले चुनाव के लिए नहीं बल्कि अगली पीढ़ी के लिए मजबूत नींव तैयार करें। पूरा जिला प्लास्टिक से पटा पड़ा है। भंडारों में जो प्लास्टिक का प्रयोग हो रहा है उसे वहीं छोड़ दिया जा रहा है।

दरअसल, सांसद वरुण गाधी ने बुधवार को अधिवक्ता सभागार की आधारशिला रखी। उन्होंने 35 सड़कों का लोकार्पण किया। इस दारौन हुई सतर्कता एवं निगरानी समिति की बैठक में सासद ने सुलतानपुर को करप्शन मुक्त मॉडल जिला बनाए जाने की अपील की। उन्होंने सड़कों के किनारे फलदार वृक्ष लगाने पर बल दिया तथा प्रशासन से कहा कि वे पॉलीथीन के प्रयोग को सख्ती से रोके।

विकास भवन सभागार में आयोजित सतर्कता निगरानी समिति की बैठक में उन्होंने प्रशासन से नेशनल हेरिटेज सिटी योजना के तहत प्राचीन स्थलों का चयन कर उसमें पारिजात वृक्ष के संरक्षण को भी शामिल किए जाने का निर्देश दिया। बच्चों को कुपोषण किए जाने की योजना में पारदर्शिता लाए जाने के लिए वितरण के दौरान प्रधानों को भी शामिल किए जाने के निर्देश दिए।

ठीक नहीं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सड़कें

सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सड़कें ठीक नहीं बन रही हैं। एक बारिश में ही सड़कों का पता नहीं चल रहा है। काम अक्षम तरीके से हुआ है। उन्होंने कौशल विकास योजना, ग्रामीण सिंचाई योजना, नेशनल सोशल असिस्टेंट कार्यक्रम की भी जानकारी ली। प्रभागीय वनाधिकारी से पौधरोपण का ब्यौरा तलब किया तथा फलदार पौधराोपण के लिए लंबी दूरी वाली कम से कम छह सड़कों का चयन कर प्लान तैयार करने को कहा। सांसद ने कहा कि पर्यावरण सुधारने के लिए गंभीरतापूर्वक जनादोलन चलाए जाने की जरूरत है। इससे स्टैंटर्ड ऑफ लिविंग बढ़ेगी।

सांसद ने अधिकारियों से कहा कि वे अगले चुनाव के लिए नहीं बल्कि अगली पीढ़ी के लिए मजबूत नींव तैयार करें। पूरा जिला प्लास्टिक से पटा पड़ा है। भंडारों में जो प्लास्टिक का प्रयोग हो रहा है उसे वहीं छोड़ दिया जा रहा है। अधिकारियों से कहा कि वे किसी प्रकार के दबाव में न आएं। कोई जनप्रतिनिधि ऊंची आवाज में बात करता है, धमकी देता है तो वे अधिकारियों के साथ खड़े हैं। राजनीतिक दबाव न झेलें।

You May Like This

LEAVE A REPLY