पालिका विस्तार के विरोध में कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन

0
44

जन सुनवाई में आए ग्रामीणों ने पालिका विस्तार के विरोध में कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि यदि गांवों को जबर्दस्ती पालिका में मिलाया गया तो वह इसके विरोध में आंदोलन तेज करेंगे। कठायतबाड़ा, नदीगांव, मंडलसेरा, भतरोला, जोग्याड़ीरौ, गाड़गांव, बिलौना, भागीरथी, भतरोला, कफलखेत, मजियाखेत आदि गांवों के ग्रामीण और प्रधान जन सुनवाई के लिए कलक्ट्रेट पहुंचे थे।

पालिका में आने से कृषि, पशुपालन को लगेगा सबसे अधिक झटका

उन्होंने डीएम के सामने अपनी परेशानी रखी। इससे पूर्व ग्रामीणों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन भी किया। उन्होंने कहा कि गांवों को पालिका में मिलाने का विरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पालिका में आने से कृषि, पशुपालन को सबसे अधिक झटका लगेगा। सफाई व्यवस्था चरमरा जाएगी। पानी, बिजली के बिल बढ़ जाएंगे। पालिका टैक्स लेगी। गौचर-पनघट पर पालिका का कब्जा हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि गांव ओडीएफ हैं। सफाई व्यवस्था अच्छी है। लोग स्वयं सफाई पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि मनरेगा मजदूर गांव में रह रहे हैं। पालिका में आने से उनका रोजगार खत्म हो जाएगा। कोर्ट ने जन सुनवाई कराने के आदेश पारित किए हैं। उन्होंने कहा कि लोग विस्तार के विरोध में हैं।

इस मौके प्रधान अनिता टम्टा, कैलाश गढ़िया, नीमा देवी, पंकज टम्टा, मंजू बिष्ट, कैलाश गोस्वामी, इंद्रा देवी, हीरा बल्लभ भट्ट, सुरेश खेतवाल, महेश खेतवाल, हरीश सोनी, गंगा देवी, पार्वती देवी, चंद्रा भाकुनी, कुंदन सिंह कार्की, नीमा बिष्ट, किशन मलड़ा, नंदन सिंह, विपिन पाठक, कैलाश थापा आदि मौजूद थे।

You May Like This

LEAVE A REPLY