युवक की संदिग्ध हालात में मौत

0
79

हल्द्वानी में भीमताल के युवक की हरिद्वार में संदिग्ध हालात में मौत के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट मे गला दबाने से की पुष्टि हुई है। वहीं, मृतक के गरीब चाचा नैनीताल से लेकर हरिद्वार जिले के पुलिस थानों में कार्रवाई के लिए भटक चुके हैं, मगर दोनों जिलों की पुलिस एक-दूसरे की जिम्मेदारी बताकर दायित्व से पल्ला झाड़ रही है।

भीमताल ब्लॉक के ग्राम पिनरौ, सैल्यूड़ा निवासी विनोद चंद्र (35) हरिद्वार स्थित सिडकुल की एक कंपनी में काम करता था। उसकी पत्नी पिंकी भी वहीं किसी दूसरी कंपनी में कार्यरत है। 27 जनवरी की तड़के पिंकी एंबुलेंस से अपने पति विनोद का शव लेकर गौलापार के सुल्तान नगरी में रहने वाले चाचा राम लाल आर्य के घर पहुंच गई। पिंकी ने परिवार वालों को तबियत खराब होने के कारण विनोद की मृत्यु होने की जानकारी दी।

परिजनों को पत्नी पर हुआ शक

वहीं परिजनों को शक हुआ तो काठगोदाम पुलिस को सूचित कर शव पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गला दबाने से दम घुटने के कारण मृत्यु होने की पुष्टि हुई है। साथ ही मृतक का बिसरा और खून के सैंपल भी सुरक्षित रख लिए गए हैं। जिससे गला दबाने से पहले उसे कुछ खिलाने या पिलाने की पुष्टि हो सके।

वहीं, चाचा राम लाल ने विनोद की हत्या का शक उसकी पत्नी पर जताया है। राम लाल ने बताया कि वह शिकायत लेकर काठगोदाम थाने गए तो पुलिस ने हरिद्वार में कार्रवाई होने की बात कहकर रिपोर्ट दर्ज करने से इन्कार कर दिया। जबकि हरिद्वार की सिडकुल पुलिस हल्द्वानी में पोस्टमार्टम होने की बात कहकर मुकदमा दर्ज करने से मना कर रही है।

You May Like This

LEAVE A REPLY