उत्तराखंड परिवहन निगम की बस में मिली चंडीगढ़ ब्रांड शराब, चालक-परिचालक सस्पेंड

0
102

उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों में दूसरे राज्यों से अवैध तरीके से शराब ढोकर प्रदेश में लाई जा रही है। इस गोरखधंधे को कोई तस्कर नहीं बल्कि खुद निगम के चालक-परिचालक कर रहे हैं। निगम के प्रबंध निदेशक वीके संत के स्पेशल उड़नदस्ते ने रामनगर व काठगोदाम डिपो की दो बसों को हरिद्वार जिले के रुड़की क्षेत्र में चेकिंग में पकड़कर कुल 135 बोतल विदेशी शराब बरामद की है। दोनों बसें चंडीगढ़ से लौट रही थीं। दोनों बसों के चालक-परिचालकों को सस्पेंड कर मामला आबकारी विभाग के सुपुर्द किया गया है। इसके साथ ही चंडीगढ़ रूट पर चलने वाली सभी बसों के चालक-परिचालक हटा दिए गए हैं। इनकी जगह अब नए चालक-परिचालकों की तैनाती की जाएगी।

लगातार बसों में शराब ढोने की मिल रही थी सूचना

परिवहन निगम की बसों में शराब ढोने की पुष्टि लगातार होती रही है। बताते हैं कि लगातार शराब की शिकायतें मिलने की सूचना पर एमडी के विशेष उड़नदस्ते ने मंगलवार रात करीब एक बजे रुड़की क्षेत्र में काठगोदाम डिपो व रामनगर डिपो की दो बसों को रोककर तलाशी ली। उपमहाप्रबंधक संचालन आरपी भारती व सहायक महाप्रबंधक हरिद्वार के नेतृत्व में हुई कार्रवाई में काठगोदाम डिपो की बस से 81 बोतल और रामनगर डिपो की बस से 54 बोतल चंडीगढ़ ब्रांड की शराब मिली है।

शराब बस की पिछली सीट के पीछे बस बॉडी में छिपाकर रखी गई थी। परिवहन निगम के एमडी वीके संत ने इसे गंभीर प्रकरण बताते हुए तत्काल प्रभाव से काठगोदाम डिपो के चालक सत्यपाल सिंह परिचालक विमल कुमार और रामनगर डिपो के चालक श्रवण सिंह व परिचालक असलम हुसैन को निलंबित कर दिया है।

एमडी ने बताया कि जब्त शराब को आबकारी विभाग के सुपुर्द किया गया है। चारों दोषी चालक-परिचालकों पर कानूनी कार्रवाई आबकारी विभाग की ओर से की जाएगी। एमडी के मुताबिक उत्तराखंड से चंडीगढ़ रूट पर चलने वाली बसों में शराब तस्करी होने की लगातार शिकायतें मिल रही हैं। शराब तस्करी पर अंकुश लगाने के लिए राज्य से चंडीगढ़ रूट पर जाने वाली सभी बसों के चालक-परिचालकों को तत्काल प्रभाव से हटाया गया है। इनके स्थान पर अब नए चालक-परिचालक चंडीगढ़ रूट पर भेजे जाएंगे।

You May Like This

LEAVE A REPLY