प्रेमिका की चार साल की मासूम बेटी को उतार दिया मौत के घाट

0
145

नई दिल्ली। हैवानियत किस हद तक सवार हो सकती है किसी भी व्यक्ति पर इस बात का अंदाजा गाजियाबाद की इस घटना से लगाया जा सकता है, जहां एक व्यक्ति ने अपनी गर्ल फ्रैंड के चार साल की मासूम बेटी को महज इसलिए मौत के घाट उतार दिया क्योंकि वह उसे अपना पिता मानने के लिए तैयार नहीं था।

यह व्यक्ति इस महिला के साथ रिलेशनशिप में था और उससे विवाह करना चाहता था। जब इस व्यक्ति ने महिला के सामने प्रेम का प्रस्ताव रखा तो महिला ने इसके लिए एक शर्त रखी कि उसे उसकी चार साल की बेटी को अपनी बेटी मानना होगा और उसकी पढ़ाई का खर्च भी उठाना होगा।

पुलिस को करता रहा गुमराह

महिला के प्रस्ताव को सोनू ने स्वीकार कर लिया क्योंकि वह उसे खोना नहीं चाहता था, लेकिन वह बेटी का पिता नहीं बनना चाहता था, लिहाजा उसने इस मसले को अलग ही ढंग से निपटाने की योजना बना डाली।

2 सितंबर को जब बच्ची खेलने के लिए बाहर अपने दोस्तों के संग बाहर गई तो वह लौटकर वापस नहीं आई, जिसके बाद परेशान मां ने इस बाबत पुलिस से शिकायत की और बच्ची की तलाश शुरू हुई।

सोनू ने भी बच्ची की तलाश में पुलिस का साथ दिया और उसने यह दिखाने की कोशिश की कि वह महिला की इसलिए मदद कर रहा है क्योंकि वह उससे प्रेम करता है।

सोनू ने इस बात को दर्शाने की कोशिश की कि मुमकिन है लड़की चाइल्ड ट्रैफिकिंग के गिरोह के हत्थे चढ़ गई हो, उसने हर संभव पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, यहां तक कि वह काफी हद तक पुलिस को गुमराह करने में सफल भी रहा।

दो दिन बाद सामने आई हकीकत

लेकिन 9 सितंबर को पुलिस को एक मासूम बच्चे सड़ी लाश के बारे में जानकारी मिली। यह शव एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में मिला, जिसके बाद इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। लेकिन जब लोगों ने यह बताया कि सोनू भी अक्सर यहां आया करता था, तो पुलिस के सामने इस पूरी घटना की तस्वीर साफ हो चुकी थी।

चॉकलेट के बहाने उठा ले गया मासूम को

वहीं जब सोनू को इस बात की जानकारी मिली तो वह समझ चुका था कि वह खतरे में है, लिहाजा वह अपने घर से फरार हो गया, लेकिन दो दिन के भीतर पुलिस ने धर पकड़ा और गिरफ्तार कर लिया, जिसके बाद उसने पुलिस के सामने हत्या का पूरा सच उगला।

उसने बताया कि बच्ची को वह चॉकलेट देने के बहाने उसके दोस्तों के बीच से ले गया था, जिसके बाद वह उसे उस बिल्डिंग में ले गया और उसके हत्या कर दी। हत्या के बाद सोनू ने शव को वहीं फेंका और फरार हो गया।

महिला के पति ने छोड़ दिया था

इसके बाद उसने पुलिस को इस बात के बारे में भी बताया कि वह उस महिला से प्रेम करता था, उसके पति ने उसे पिछले वर्ष छोड़ दिया था। जिसके बाद महिला को किराए के घर पर रहना पड़ा। सोनू महिला के घर के ठीक बगल में रहता था। जल्द ही दोनों के बीच प्रेम हो गया।

लेकिन जब महिला के पति को इनके अफेयर के बारे में पता चला तो वह वापस आया और उसकी सोनू के साथ कहासुनी भी हुई, लेकिन इसके बाद भी सोनू का महिला के साथ संबंध चलता रहा।

हालांकि सोनू ने शुरुआत में महिला की शर्त को स्वीकार कर लिया था, लेकिन बाद में उसका मन बदल गया, अक्सर सोनू से महिला का इस बात को लेकर विवाद भी होता रहता था। जिसके बाद सोनू ने बच्ची की हत्या की साजिश रची। वहीं पुलिस का कहना है कि युवक महिला से पैसों के लिए शादी करना चाहता था।

 

You May Like This

LEAVE A REPLY