बाल-बाल बचे बस के यात्री, चालक की सूझबूझ काम आई

0
183

अल्मोड़ा। उत्तराखंड परिवहन की बस शीतलाखेत रोड पर देवलीखान के पास खाई में गिरने से बाल बाल बची। यह बस अल्मोड़ा से दिल्ली जा रही थी कि सड़क पर अचानक गिरे मलबे की चपेट में आने से बस असंतुलित हो गई। बस को असंतुलित होता देख वाहन चालक ने बस को पहाड़ी से टकरा दिया। जिसके कारण बस में सवार 19 यात्री बच गए। कई घंटों के बाद क्रेन की मदद से बस को निकाला गया। जिसके बाद बस दिल्ली को रवाना हुई।

अल्मोड़ा से वाया शीतलाखेत दिल्ली को जाने वाली रोडवेज की बस संख्या यूके 07-पीए-3117 रोज की तरह रविवार को भी दोपहर में अल्मोड़ा से रवाना हुई। बस यात्रियों को लेकर जैसे ही शीतलाखेत कठपुड़िया रोड पर कालिका मंदिर देवलीखान के पास पहुंची कि बस के सामने अचानक मलवा आ गया। बस के आगे अचानक मलबा आने से बस असंतुलित हो गई। चालक ने बस को पहाड़ी की ओर टकरा दिया। पहाड़ी की ओर मलवा होने से बस मलवे में फंस गई और दूसरी और खाई में जाने से बच गई। इस दौरान बस में बैठे 19 यात्रियों में हडकंप मच गया। सूत्रों के अनुसार चालक पवन राठौर की सूझबूझ से बस खाई में जाने से बच गई। पहले तो बस में सवार सभी लोगों ने मलवें में फंसी बस को निकालने का प्रयास किया। लेकिन बस निकल नहीं पाई जिसके बाद अल्मोड़ा डिपो से क्रेन मंगाकर बस को निकाला गया। उसके बाद बस को दिल्ली के लिए रवाना किया गया।

You May Like This

LEAVE A REPLY