कोटद्वार में आयुर्वेद शोध संस्थान होगा विकसित

0
12

स्नातक सम्मिलन दशम समारोह में मुख्य अतिथि ने कोटद्वार में आयुर्वेद शोध संस्थान विकसित करने की घोषणा की। पांच दशकों से आयुर्वेद के क्षेत्र में उल्लेखनीय सेवा देने वाले डॉ. ज्ञानेंद्र पांडेय को सम्मानित किया गया। जेबा मलिक, शिवांगी व्यास, निकिता खेतवाल, आस्था, भूमिका और मोनिका को पुरस्कार दिए गए।

आयुष विभाग को देगें पूरा सहयोगः ब्रजेश सिंह

गुरुकुल आयुर्वेद एल्यूमिनी एसोसिएशन की तरफ से गुरुकुल कांगड़ी आयुर्वेदिक महाविद्यालय के चरक सभागार में आयोजित किया गया। मुख्य अतिथि उत्तराखंड आयुर्वेद विवि के कुलपति प्रो. अभिमन्यु कुमार ने कहा कि गुरुकुल कांगड़ी आयुर्वेदिक कालेज आयुर्वेद शिक्षा जगत में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। उन्होंने गुरुकुल के विकास को प्राथमिकता देने और कोटद्वार चरक डांडा में आयुर्वेद शोध संस्थान विकसित करने की घोषणा की। देवबंद के विधायक ब्रजेश सिंह ने आयुष विभाग को पूरा सहयोग देने की बात कही। इस अवसर पर आयुर्वेद, प्राच्यविद्या, संस्कृति और इतिहास के क्षेत्र में पांच दशकों से उल्लेखनीय सेवा दे रहे डॉ. ज्ञानेंद्र पांडेय को कुलपति ने शॉल ओढ़ाया और स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया।

वैद्यनाथ कंपनी की तरफ से बीएएमएस उतीर्ण छात्रा जेबा मलिक को प्रथम पुरस्कार के रुप में 10 हजार, शिवांगी व्यास को द्वितीय पुरस्कार के रुप में पांच हजार और निकिता खेतवाल को तीन हजार रुपये देकर सम्मानित किया गया। डॉ. अनंतानंद की स्मृति में शरीर रचना विषय में आस्था और भूमिका महेंद्रू को 2500 रुपये, मेडल और प्रमाण पत्र भेंट किया गया। डॉ. इंद्रसेन की स्मृति में द्रव्य गुणमें प्रथम स्थान के लिए मोनिका को पांच हजार का नकद पुरस्कार, मेडल और प्रमाण पत्र दिया गया।

You May Like This

LEAVE A REPLY