शराबियों ने गांव में मचाया आतंक

0
73

गुरुवार की रात चैखुटिया तहसील क्षेत्र के धनस्यारी गांव में कुछ बाहरी लोगों द्वारा शराब पीकर उत्पात मचाने, फाय¨रग कर ग्रामीणों को डराने व गाली गलौज करने का मामला शनिवार को तूल पकड़ लिया। महिला मंगल दल के नेतृत्व में महिलाओं ने सुबह गांव के पंचायत घर पर एकत्र होकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की एवं ऐसे लोगों को पनाह देने का आरोप लगाया। बाद में बढ़ते दवाब के चलते एसडीएम व तहसीलदार ने राजस्व टीम के साथ गांव में पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया। इधर तत्काल कार्रवाई न होने पर महिलाओं ने रविवार को चक्का जाम व तहसील पर धरना देने का ऐलान किया है।

शराब की दुकान में काम करने वाले चार लोग धनस्यारी गांव के सड़क से लगे मकान में किराए पर रहते हैं। आरोप है कि इन लोगों ने गुरुवार की रात 10 बजे शराब पीकर गांव में आतंक फैला दिया। इस दौरान उन्होंने बंदूक से कई फायर भी झोंके। इससे गांव में दहशत फैल गई तथा रातभर गांव के लोग घरों में दुबके रहे। अगले दिन शुक्रवार शाम दो दर्जन महिलाओं ने तहसील कार्यालय में आकर अपनी शिकायत दर्ज कर कार्रवाई की मांग की। ठोस कार्रवाई न होने पर महिलाएं व ग्रामीण शनिवार को गांव के पंचायत घर पर एकत्र होकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

आरोपियों को पनाह देने का लगाया आरोप

तहसीलदार सतीश चंद्र बर्थवाल व राजस्व उपनिरीक्षक इसरार अहमद को खरी खोटी सुनाई एवं आरोपियों को पनाह देने का भी आरोप लगाया। बाद में जिला पंचायत सदस्य गजेंद्र नेगी के नेतृत्व में महिला मंगल दल की अध्यक्षा रेबा देवी की ओर से रिपोर्ट दर्ज की गई। दोपहर बाद एसडीएम रजा अब्बास ने ग्रामीणों से वार्ता की। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब मामला शांत हुआ।

ग्रामीणों ने एलान किया है कि कार्रवाई नहीं हुई तो वे चक्का जाम व धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। कार्यक्रम में जिपंस गजेंद्र नेगी, राजेंद्र सिंह, शंकर सिंह, आंनद सिंह, पूरन सिंह, रेबा देवी, बसंती, धना देवी, गीता भट्ट, कमला, पुष्पा, सुमन, निर्मला अंबी देवी, भागुली, मंजू, भावना, राधिका, चंपा बचुली, नंदी, गंगा, माया व भगवती समेत अन्य शामिल थे।

You May Like This

LEAVE A REPLY