नेता प्रतिपक्ष का सरकार को 30 दिन का अल्टीमेटम

0
112

शुक्रवार को हल्द्वानी में नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए 30 दिन का अल्टीमेटम दे डाला। उन्होंने कहा कि सरकार ने बस अड्डे के लिए 30 दिन के भीतर हल्द्वानी में नए और उपयुक्त स्थल का निर्धारण न किया तो वह अनशन पर बैठेंगी। हजारों लोगों को साथ लेकर सरकार की विकास विरोधी नीति के खिलाफ आंदोलन छेड़ा जाएगा।

होटल सौरभ में पत्रकारों से मुखातिब डॉ. इंदिरा ने कहा कि 2014 से लगातार प्रयास करते हुए कांग्रेस सरकार ने 2016 अंत में आइएसबीटी का निर्माण शुरू करा दिया। कुमाऊं के 50 लाख लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए वर्षो से लटकी महत्वाकांक्षी योजना की सभी बाधाओं को दूर कराई गई। हल्द्वानी शहर के विकास के लिए यह बेहद अहम प्रोजेक्ट था। 80 करोड़ के इस प्रोजेक्ट का ख्याति प्राप्त कंपनी के माध्यम से कराया जा रहा है।

अचानक बस अड्डे को शिफ्ट करने का कर डाला फैसला

बावजूद इसके कैबिनेट ने अचानक बस अड्डे को शिफ्ट करने का फैसला कर डाला। 26 सौ से अधिक पेड़ काटे जा चुके हैं और समतलीकरण व चाहरदीवारी सहित तमाम कार्यो में अब तक साढ़े तीन करोड़ रुपये खर्च भी हो चुके हैं। ग्रेटर हल्द्वानी विकसित करने के लिए लिहाज से शुरू कराई गई इस योजना पर रोक के लिए सरकार ने न तो कोई कारण बताया है और न खर्च का हिसाब ही लगाया।

विकास विरोधी भाजपा सरकार के खिलाफ अब आंदोलन ही हथियार होगा। प्रेसवार्ता में महानगर अध्यक्ष राहुल छिम्वाल, ब्लाक प्रमुख भोला भट्ट, हरीश मेहता व एनबी गुणवंत आदि वरिष्ठ कांग्रेसी मौजूद रहे।

You May Like This

LEAVE A REPLY