प्लंबर का काम करता था, आर्थिक तंगी हुई तो लूटपाट कर गया

कांग्रेस नेता धस्माना के घर लूटपाट का मास्टरमाइंड को पुलिस ने दबोचा

0
121
Read This Also

देहरादून। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सूर्यकांत धस्माना के ईसी रोड स्थित कार्यालय में बदमाशों ने तमंचे के बल पर उनके दो नौकरों और भाई को बांधकर लूटपाट की। बीच शहर में सुबह-सुबह घटी घटना से क्षेत्र में हडकंप मच गया। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे और स्थानीय लोगों से पूछताछ करके जिस वाहन से बदमाश भागे थे उसे ट्रेस किया। पुलिस ने दबोचा तो बदमाशों की हवा निकल गई। पूछताछ में लूटपाट के मास्टरमाइंड ने धस्माना के यहां पहले प्लंबर का काम करने की बात कही। आर्थिक तंगी होने पर धस्माना के यहां तीन अन्य के साथ मिलकर लूटपाट कर ली।
15 अक्टूबर को सुबह के वक्त लगभग 7.30 बजे कांग्रेस नेता सूर्यकांत धस्माना के कार्यालय में घुसकर तीन बदमाशों ने तमंचे के बल पर उनके दो नौकरों धर्मेन्द्र प्रसाद व उसके भाई को बांधकर धस्माना के दराज से बीस हजार रुपये नगद तथा उनके नौकर के जेवरात लूट लिए। शहर के बीचोंबीच घटी घटना से हड़कंप मच गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती कुमार के निर्देशन में एसपी सिटी व क्षेत्राधिकारी डालनवाला के पर्यवेक्षण में प्रभारी निरीक्षक डालनवाला के नेतृव्व में टीमों का गठन किया गया। घटनास्थल के निरीक्षण के दौरान आसपास के कैमरों की पडताल व लोगांे से की गई गहन पूछताछ से सफेद रंग के वाहन से बदमाशों का भागना पाया गया। वाहन स्वामी का पता लगाया गया तो सूरज रावत निवासी डाकरा कैन्ट देहरादून पकड में आया। वाहन स्वामी से पूछताछ की गई तो उन्हांेने बताया कि गाडी सुरेन्द्र नामक व्यक्ति को बेचा जा चुका है। पुलिस ने सुरेन्द्र का पता लगाया लेकिन जो पता उसने दिया था उसमें वह नहीं रह रहा था। बाद में पुलिस ने मुखबिर व सर्विलान्स से सुरेन्द्र को टेªस किया तो उसका पता अमरोहा मिला। अमरोहा पहुंची पुलिस टीम ने जानकारी की तो सुरेंद्र के संदिग्ध गतिविधियों में लिप्त होना पाया गया। 19 अक्टूबर को मुखबिर की सूचना पर सुरेंद्र की लोकेशन नेपाली फार्म मिली। यहां से पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। पुलिस ने लूटी गई सफेद रंग की कार, सुरेंद्र के हिस्से के पांच हजार रूपये बरामद किए।
पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह पहले सूर्यकांत धस्माना के यहां प्लंबर का काम करता था। धस्माना काफी पैसे वाला व्यक्ति है। वह आजकल आर्थिक रुप से परेशान चल रहा था तो उसने आरिफ उर्फ मस्तकीम निवासी बिजनौर, फईम निवासू अमरोहा तथा मिनुत निवासी बिजनौर के साथ मिलकर धस्माना के यहां लूट का प्लान बनाया। घटना के दिन उसने धस्माना के घर के समीप स्थित दूसरी गली में तीनों आरोपियों के साथ मिलकर लूट का प्लान बनाया। घटना के दिन वह दूसरी गली में तीन अन्य के साथ कार से आया। वह कार में बैठा रहा जबकि उसके साथ गए तीनों बदमाश धस्माना के ऑफिस में घुसे और लूटपाट करके लौट आए। 20,000 रुपये नगद, एक चेन, दो अंगुठियां, एक जोड़ी टॉप्स, एक मांगटीका व चांदी का सिक्का लूट ले गए। मास्टरमाइंड के हिस्से आठ हजार रुपये नगद व एक चांदी का सिक्का आया था।

आरोपियों के नाम व पते

- सुरेंद्र निवासी पिलक सराय थाना अमरोहा जिला जेपीनगर, यूपी
- आरिफ मिस्त्री निवासी बड़ापुर बिजनौर
- फईम निवासी तलवारसा थाना अमरोहानगर, अमरोहा
- मिनुत निवासी ग्राम भारेगी थाना नगीना बिजनौर

बरामद सामान का विवरण

- घटना में प्रयुक्त कार, 5000 रुपये, चांदी का सिक्का।

पुलिस टीम का विवरण

- यशपाल सिंह बिष्ट, प्रभारी निरीक्षक डालनवाला
- वरिष्ठ उपनिरीक्षक देवेंद्र सिंह रावत
- उपनिरीक्षक रफत अली, चौकी प्रभारी नालापानी
- उपनिरीक्षक राजेंद्र पुजारा, चौकी प्रभारी करनपुर
- उपनिरीक्षक कुलदीप पंत
- उपनिरीक्षक महाबीर सिंह
- कांस्टेबल कवि शर्मा, हरीश चंद्र, सौरभ बालिया

You May Like This

LEAVE A REPLY